हैल्लो दोस्तों। जैसा कि आप जानते हैं हर देश का अपना एक एंथम होता है जिसे हम नैशनल एंथम कहते हैं। इसी तरह अगर शराबियों का एंथम अगर किसी गाने को बना सकते हैं तो वो है ‘‘दो घुट पिला दे साथिया, बाकी मेरे ते रोल दे।’’ या फिर ये भी हो सकता है ‘‘नशा शराब में होता तो, नाचती बोतल।’’ हा हा हा। क्यों सही कहा ना।

शराब एक ऐसी चीज़ है जो बड़े बड़े घरों को तबाह करके रख देती है। पति-पत्नी के सर पर तांडव करने में इसे बड़ा मजा आता है। वैसे एक बात तो माननी पड़ेगी यारों, जब भी कोई व्यक्ति शराब पीकर आता है और बीवी पूछ ले कि तुमने शराब पी है? फिर तो बस ये इतने सीधे बन जाते हैं, बिलकुल जलेबी की तरह। तपाक से बोल पड़ते हैं। शराब? वो क्या होती है? ऐसा कहते वक्त इन्हें झूमता देख बीवी का जो रिएक्शन होता है वो देखने लायक होता है। इसपर भी जब उसका एक्शन होता है तो फिर उस शराबी को तो खुदा भी नहीं बचा पाएगा। या फिर ये शराबी बेचारे से, भोले से बनकर बस यही गाना गुनगुनाएंगे। ‘‘मैं पीता नहीं हूं, पिलाई गई है।’’

या फिर ये गाना भी ट्राई कर सकते हैं। ‘‘मुझे पीने का शौक नहीं, पीता हूं गम भुलाने को।’’ इन शराबियों को तो बस मौका चाहिए चैका मारने के लिए। अगर बारिश हो रही हो तो ये शराब पीने के लिए इस गाने को ढाल बनाते हैं। ‘‘अभी जिन्दा हूं तो जी लेने दो, भरी बरसात में पी लेने दो।’’ अजी हुजूर, शराबियों की अगर प्रेमिका हो तो बड़ी दुविधा हो जाती है। फिर इन्हें ये गाना गुनगुनाने से कोई माई का लाल नहीं रोक सकता। इस सिचुएशन में ये गाते हैं ‘‘मैं कहां जाऊं होता नहीं फैसला, इक तरफ उसका घर, इक तरफ मैं गधा।’’ हा हा हा।

आज हम आपको ऐस- ऐसे आविष्कारों के बारे में बताएंगे जो आप सोच भी नहीं सकते। वैसे तो इन शराबियों को शराब पीने के अलग अलग बहाने खोजने पड़ते हैं। लेकिन इनकी इसी जरूरत ने दुनिया को कुछ ‘मदहोश’ आविष्कार दिए हैं। वो कहावत तो आपने सुनी ही होगी कि आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है। बस यही फंडा यहां पर फिट होता है। देखो यारों, जब अल्ला महरबान होता है तो गधा भी पहलवान समझने लगता है खुद को। इन शराबियों ने जो किए हैं आविष्कार, वो ईश्वर का ही तो है चमत्कार।

ये आविष्कार आपको हँसा.हँसा के टल्ली बना डालेंगे। अब एक ऐसी गोल्फ स्टिक बन गई है दोस्तों, जो सामने वाले को यह अहसास भी नहीं होने देगी कि आपके हाथ में गोल्फ स्टिक नहीं बल्कि दारू स्टिक है। यह गोल्फ क्लब में आपको मिल जाएगी। इस स्टिक में से शराब निकलती है। ऐसा गजब का दिमाग ये शराबी लाते कहां से हैं यार। इन्होंने तो आइंस्टाइन को भी मुंह चिढ़ा दिया है। बस इस स्टिक से शराब गिराओ, और घांस को बिस्तर समझ कर लोट जाओ।

फिर गाना गाओ, ‘‘मुझको यारों माफ करना, मैं नशे में हूं।’’ कम से कम नाले या गटर में गिरने से तो भला ही है न कि आप गोल्फ के मैदान में गिरें। अच्छा, जो लोग शराबी होते हैं न, उन्हें एक गाने से बड़ी चिढ़ मचती है। जानते हो वो कौन सा गाना है? वो है ‘‘कितनी बार बोला शराब नहीं पीना, लिवर सड़ जाएगा रे भाई।’’ क्योंकि इसमें आप उनके भले की बात कर रहे हैं। अब ये तो काॅमन सेंस है न, किसी शराबी को अगर कहोगे शराब न पिए तो वो इस काॅमन सेंस को नाॅन सेंस कहने में देर नहीं लगाएगा।

इन शराबियों को शराब पीने की तलब कहां लग जाए इसका तो भगवान भी अंदाजा नहीं लगा सकता। एक आदमी ने तो हद ही कर दी। शराब पीने की ऐसी तलब उठी कि दइया रे….। उसने अपनी टाई को ही शराब का स्टोर बना डाला। वैसे ये आईडिया साॅलिड है बाॅस। अगर आप आफिस में हैं और आपको शराब की तलब उठ गई तो टाई खोली और दो-चार लगा ली। किसी को भनक तक नहीं लगेगी कि आपकी टाई में शराब छुपी हुई है। हां मगर कलयुग के शिव जी यानी ‘‘सीसीटीवी’’ से जरा बचकर रहना। अगर उन्होंने अपनी तीसरी आंख से आपको आशीर्वाद दिया तो आप पर कयामत आ सकती है। बाॅस ने कैमरे में ये हरकत देख ली तो जाॅब, या तो फिर जान भी जा सकती है।

वो इसलिए क्योंकि ऑफिस के बाद घर तो जाओगे ही। घर पर आपकी बीवी आपका बेलन से जो स्वागत करेगी उससे तो जान ही जाएगी रे। दोस्तों, आपने बंदूक का नाम तो सुना ही होगा जिसमें गोली होती है। वही गोली जिसके लिए गब्बर कहता है ‘‘तूने मेरा नमक खाया है। अब गोली खा’’ बंदूक अगर आपके सामने रख दे ,तो आप मिस्टर इंडिया की तरह गायब होने में जरा भी देर नहीं करेंगे। लेकिन इन शराबियों ने एक ऐसी बंदूक बना डाली है जिसे सोच पाना आपके बस में तो बिलकुल नहीं है। इस बंदूक से तो गजब चीज़ बाहर निकलती है बीड़ू।

दरअसल, शराबियों ने ऐसी बंदूक बना डाली है जिसमें से दारू गिरती है। मानना पड़ेगा इनके दिमाग को। वाह उस्ताद। अगर किसी शराबी के आगे आप ये बंदूक रख दें तो वो यही कहेगा ‘‘मौत बुलाती है मगर, जाने का नहीं।’’ या फिर ‘‘बंदूक से डर नहीं लगता साहब, प्यार से लगता है।’’ इस बंदूक के आगे तो हर शराबी अपने आपको सुपरमैन से कम नहीं समझेगा। आप सब ने ए टी एम का नाम तो सुना ही होगा और यूज़ भी किया होगा। यही तो वो मशीन है जो आपको हरी हरी नोट से मिलवाती है। परंतु क्या आपने कोई ऐसी ए टी एम मशीन के बारे में सुना है जिसमें से आप जितनी चाहंे उतनी दारू निकाल सकते हैं। जी हां ये सच है।

शराबियों के दिमाग ने कुछ ऐसा कैमिकल लोचा किया कि एक व्यक्ति ने शराब की ही ए टी एम मशीन बना डाली। इसमें सबसे पहले आपको टोकन लेना पड़ता है। फिर उस टोकन पर जितने लीटर शराब लिखी है उसके हिसाब से मशीन आपको शराब परोसेगी। आपके पास ये भी ऑप्शन है कि आप कौन सी शराब पीनी है। बस बटन दबाइये और नशे में टल्ली होने के लिए रेडी हो जाइए। फिर यही गाना गाएंगे आप भी ‘‘मैं नशे में टल्ली हो गया ओये की करिए, की करिए।’’

चलिए एक और इनवेंशन के बारे में आपको बताते हैं। एक जनाब ने तो शराब को परोसने का अनोखा तरीका निकाला। उन्होंने लात यानी किक के शेप में बोतल का आविष्कार कर डाला। अगर आप इस गिलास में शराब पिएंगे तो मजा तो बहुत आएगा। लेकिन शायद ऐसी ही किक घर जाकर आपको बीवी से भी पड़ेगी। शायद इस आदमी को भी पड़ी हो किक। तभी तो इसने ये इनोवेशन किया। एक ऐसी भी जगह है दोस्तों जहां पर एक शराबी ने आटोमेटिक वेंडिंग मशीन बना दी है। जी हां, वही मशीन जो लगभग हर ऑफिस में लगी होती है कि बंदा थक गया हो तो जितना मन करे उतनी चाय या काॅफी पी ले एक बटन दबाकर। बाई गाॅड, अगर इस आइडिया ने रिकाॅर्ड न तोड़ा ऑफिस में काम करने का तो मेरा नाम बदल देना आप। जो लोग शाम के 5 बजने का इंतजार करते हैं कि कब छुट्टे सांड की तरह ऑफिस से घर भागें, फिर वही लोग ऑफिस की कुर्सी से इस कदर चिपक जाएंगे जैसे किसी ने फैविकोल लगा दिया हो कुर्सी पर।

इम्प्लाॅइज़ को पकड़-पकड़ कर ऑफिस से बाहर भेजना पड़ेगा। कुछ लोग तो अगले दिन नालियों में अटेंडेंस लगाने पहुंच जाएंगे। लो बताओ। ई तो गजबे हो गया। इस स्मार्ट फोन में क्या कम नशा है जो इसको भी नशे के लिए उपयोग किया जाने लगा। जी हां, एक व्यक्ति ने ऐसा स्मार्ट फोन इनवेंट किया है जिसे देख कर आप दंग रह जाएंगे। यह स्मार्ट फोन आपको शराब परोसेगा और वो भी आपकी मन पसंद की। जन्नत सी फ़ीलिंग आनी जायज़ है ऐसे लोग जिन्हें नई नहीं, पुरानी शराब पीनी पसंद है लेकिन बजट बिगाड़ रही है पुरानी शराब, उनके लिए तो ये डब्बा वरदान है। कमाल का दिमाग चलाया है इस बंदे ने। ये देश क्यों नहीं चलाता यार। ऐसी मशीन बनाई है जिसमें नई वाइन को डालो और झट से 15 या 20 साल पुरानी बना डालो। यार, जो लड़कियां अपनी सही उम्र नहीं बताना चाहतीं, क्यों न उन्हें भी इसी मशीन में डालकर सच उगलवा लिया जाए। क्या ख्याल है।

तो दोस्तों, उम्मीद है आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा। फिर मिलेंगे एक और गुदगुदाने वाले किस्से के साथ। तब तक के लिए सायोनारा।