दोस्तों, अमीर बनना आखिर कौन नहीं चाहता। इस दुनिया का हर व्यक्ति अमीर बनने के सपने देखता है। कोई एक ऐसा व्यक्ति बता दीजिए जो गरीब रहना चाहता हो। हर किसी का सपना होता है कि वो भी अमीर बने। उसके पास भी गाड़ी हो, बंगले हो। नौकर-चाकरों की फौज हो। कई लोग तो अमीर बनने के चक्कर में गलत रास्ता अपना लेते हैं जैसे चोरी करना, डाका डालना, बैंक रौबरी करना आदि। तो वहीं कुछ लोग ऐेसे भी हैं जिनकी किसमत का एक अलग ही फंडा है। ऐसे लोगों के लिए एक कहावत है कि ये लोग सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए हैं। यानी कि इन्हें अमीरी विरासत में मिली होती है।

वैसे आज की दुनिया में पैसे के मोह के हाथों में सबके जीवन की डोर बंधी नजर आती है। आज हर कोई किसी न किसी तरह से पैसा कमाना चाहता है। जो लोग अमीर हैं वो भी उतने से संतुष्ट नहीं हैं। उन्हें भी चाह है कि वो कुबेर बन जाएं। दोनों हाथो से पैसा लुटाएं तो भी इतना पैसा उनके पास हो कि सात पुश्तें आराम से बैठकर खा सकें। रोटी की भूख जब हमारा पेट भर जाए तब खत्म हो जाती है, लेकिन पैसे की भूख ऐसी है जो बढ़ती ही रहती है। कुछ लोग किसी मौके की तलाश में रहते हैं कि कब कोई आपदा आए और कब उनका बिजनेस तेजी से आगे बढ़े और वो खूब धन कमा लें। ऐसे लोग आपदा को भी अवसर बना लेते हैं।

चलिए आपको ऐसे ही कुछ अरब पतियों के बारे में बताते हैं जिनका बिजनेस कोरोना काल का ग्रास नहीं बन पाया। कोरोना ने केवल छोटे व्यापारियों को ही कंगाली की राह पर लाकर खड़ा किया है। इन अरबपतियों के आगे तो कोरोना भी भीगी बिल्ली बन गया। एक अनुमान के मुताबिक कोरोना काल में ही भारत देश में करीब 40 अरबपति सामने आए हैं। अब भारत के अरबपतियों की संख्या 177 के करीब हो गई है। ऐसे कोरोना काल में इनकी सम्पत्ति कम होने के बजाए और ज्यादा बढ़ी है। इस लोगों की अमीरी रबड़ की तरह है जो खिंचती ही चली जा रही है। चलिए शुरू करते हैं।

मुकेश अंबानी

Image Source: Wikipedia

एक रिसर्च के मुताबिक भारत के सबसे रईस यानी अरबपतियों की सूची में रिलाइंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी अपनी पकड़ मजबूत बनाए हुए हैं। इस कोरोना महामारी के दौर में भी मुकेश अंबानी की कुल सम्पत्ति में 24 फीसदी का इजाफा हुआ है। अब मुकेश अंबानी की सम्पत्ति 83 अरब डाॅलर। इसके साथ ही वो दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में आठवें नम्बर पर पहुंच गए हैं।

गौतम अडानी

Image Source: Wikipedia

दुनिया के अरबपतियों की सूची में भारत के गौतम अडानी भी शामिल हैं। वर्ष 2020 में जब कोरोना काल शुरू हुआ तब भी गौतम अडानी की सम्पत्ति करीब 32 अरब डाॅलर तक पहुंच गई। इन्होंने आपदा को मौके में तबदील किया। पूरी दुनिया के अरबपतियों की लिस्ट में गौतम अडानी का नाम 48वें नम्बर पर आता है। मुकेश अंबानी के बाद वे भारत के दूसरे सबसे रईस लोगों में शामिल हैं। इतना ही नहीं, गौतम अडानी के भाई विनोद अडानी की सम्पत्ति भी 128 प्रतिशत बढ़ गई है। अब उनकी सम्पत्ति है 9.8 अरब डाॅलर।

शिव नादर

Image Source: Wikipedia

दोस्तों, अगर भारत की अमीरों की सूची की बात की जाए और शिव नाडर का नाम ना आए ऐसा कैसा हो सकता है। हो सकता है आपने इनका नाम बहुत कम सुना हो या कुछ लोगों ने शायद पहली बार ही सुना हो। दरअसल, शिव नादर आई टी कम्पनी में अंगद की तरह अपने पैर जमा चुकी एचसीएल कम्पनी के मालिक हैं। अगर इनकी सम्पत्ति पर गौर किया जाए तो आप जानेंगे कि इनके पास करीब 27 अरब डाॅलर की सम्पत्ति है। इसके साथ ही वो भारत के तीसरे नम्बर पर सबसे अरबपति व्यक्ति हैं। ऐसा लगता है जैसे भगवान शिव का हाथ इनके उपर है और साथ ही ये लक्ष्मी माता से भी कोई डील करके पैदा हुए हैं। आपको जानकारी दे दें कि, शिव नादर ने ही भारत में कम्प्यूटर सिस्टम इंडस्ट्री की नींव रखी थी। हालांकि शुरू में ये बिलकुल साधारण इंसान थे लेकिन बाद में इन्होंने अपनी कम्पनी के अलावा अपनी अमीरी से भी दुनिया में एक अलग पहचान बनाई।

जय चैधरी

Image Source: Wikipedia

अब बात कर लेते हैं नम्बर 1 साइबर सिक्योरिटी कम्पनी जेडक्लेयर के मालिक जय चैधरी की। ये जेडक्लेयर के सीईओ हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक इनका नाम दुनिया के 10 सबसे बड़े अरबपतियों की सूची में शामिल हो गया है। जय हिमाचल प्रदेश के रहने वाले हैं। कहते हैं एक समय वो भी था जब जय पेड़ के नीचे बैठ कर पढ़ाई की है। इन्होंने अर्श से फर्श तक का सफर अपनी कड़ी मेहनत के दम पर तय किया है। इनकी सिक्योरिटी कंपनी जेडक्लेयर के शेयर कोरोना महामारी के दौर में काफी ज्यादा उछाल आया। इसके बाद तो जैसे इनकी किस्मत ही बदल गई। वे दुनिया के अमीरों की सूची में 185वें स्थान पर अपनी जगह बना चुके हैं। शुरूआती दिनों में जय चैधरी अपने स्कूल 4 किलोमीटर पैदल चलकर गए हैं। आज इनकी सम्पत्ति में 274 प्रतिशत की बढ़ौतरी हो चुकी है और इनके पास 13 अरब डाॅलर की कुल सम्पत्ति मौजूद है।

बायजू रविन्द्रन

Image Source: Wikipedia

दोस्तों अब आपसे सांझा करते हैं एक ऐसे व्यक्ति की सम्पत्ति जिसने अभी हाल ही में दुनिया के अरबपतियों में एंट्री ली है। ये भारत के नए अरब पति हैं। रविन्द्रन की कुल सम्पत्ति पिछले 8 सालों में करीब 42 हजार करोड़ रुपए बढ़ गई है। अगर इसे डाॅलर में देखा जाए तो ये बनता है 6 अरब डाॅलर। आपको बता दें कि रविन्द्रन एक कम्पनी चलाते हैं जिसका नाम है थिंक एंड लर्न प्राइवेट लिमिटेड। इस कम्पनी ने वर्ष 2019 में 150 मिलियन डाॅलर कमाए हैं। एक समय था जब रविन्द्रन ट्यूशन पढ़ाते थे। इस बड़े ब्रैंड की नींव शुरूवात में आठ सदस्यों की टीम ने ही डाली थी। इस कम्पनी की बाईजूस एप की एप्प तो आपने टीवी पर जरूर देखी होगी। जिसमें शाहरुख खान कहते नजर आते हैं ‘बायजूस क्लासेस है, तो प्रोगेस है’

आनंद महिन्द्रा

कोरोना महामारी ने जहां दूसरे व्यापारियों की कमर तोड़कर रख दी, वहीं दूसरी ओर महिन्द्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिन्द्रा ने इस महामारी को अवसर बना लिया। कोरोना काल में आनंद महिन्द्रा और उनके परिवार की सम्पत्ति पर नजर डालें तो यह इस दौरान दुगनी होकर 2.4 अरब डाॅलर तक पहुंच गई है।

एलाॅन मस्क

पूरी दुनिया के अरबपतियों की लिस्ट में एलाॅन मस्क ने मुकेश अंबानी जैसे धुरंधर को भी पछाड़ दिया है। टेस्ला और स्पेसेक्स जैसी कम्पनी के मालिक एलाॅन मस्क की कुल सम्पत्ति 197 अरब डाॅलर है।

तो दोस्तों, हमारा यह लेख आपको कैसा लगा? हमें कमेंट करके जरूर बताएं। हम आपके लिए ऐसी ही नाॅलेजेबल और इंटरस्टिंग लेख लेकर आते रहेंगे। बने रहिए ग्लोबल केयर के साथ।