Source image_zeeentertainmententerpriseslimited

अरे ठैर जाओ, ठैर जाओ। किधर को जा रहे महाराज। इतै को आओ। तनिक न्योछावर करके हमारे हाथ में धर दो। हा हा हा। ये डायलाॅग तो आप सब की जुबान पर चढ़ गया होगा। या फिर ये डायलाॅग तो आपके दिलों दिमाग पर घर कर गया होगा ‘‘तुम यार कसम से कै रए, बहुत बड़ी चिरांद हो।’’ पहले जब किसी को चोट लगती थी तो उसे मां की याद आती थी। लेकिन आज जब किसी को चोट लगती है तो वह एक ही बात कहता है ‘‘अरे दादा। ये का हो गओ।’’

एंड टीवी का शो ‘‘भाभी जी घर पर हैं’’ की पाॅपुलैरिटी आज टीआरपी के सारे रिकाॅर्ड ब्रेक कर रही है। एक वक्त था जब लोगों की पहली पसंद था सीरियल ‘‘टी एम के ओ सी’’ यानी ‘‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा।’’ लेकिन बाद में हर घर के इडियट बाॅक्स पर बस एक ही शो राज करने लगा भाभी जी घर पर हैं। किरदारों की बात करें तो इसका हर एक किरदार अपने आप में किसी बड़ी सिलेब्रिटी से कम तो बिलकुल भी नहीं है। इसका हर किरदार यूनीक है। यह शो कानपुर के बाबू पुरवा काॅलोनी में रहने वाले लोगों का किरदार समेटे हुए है।

क्या आप जानते हैं, देश के पॉपुलर शो में काम करने वाले एक्टर्स की कमाई कितनी है? होश उड़ा देगी इनकी कमाई। सबसे पहले बात करते हैं उस किरदार की, जिनके चाहने वाले खुद उनके पड़ोसी यानी कि भरमूती जी या विभूती नारायण मिश्रा हैं।

इनकी आंखों से भाजी जी एक पल के लिए भी ओझल न हों, इसलिए ये जाॅब पर नहीं जाते। जी हां, हम बात कर रहे हैं अंगूरी भाभी की। ये रोल पहले निभा रही थीं शिल्पा शिंदे। जो बिग बाॅस शो का हिस्सा भी रह चुकी हैं।

अब इस किरदार में जान डालने का काम कर रही हैं शुभांगी अतरे। इनकी रील लाइफ जितनी इंटरस्टिंग है रियल लाइफ उतनी ही चुनौती पूर्ण है।

Source Image_Wikipedia

बाॅम्बे में उनके करियर की शुरूआत हुई कसौटी ज़िन्दगी की सीरियल से। इनके पति एक एडफिल्म एजंसी से संबंधित थे। ये दोनों पुने महाराष्ट्र में रहते थे। जब शुभांगी एक एड शूट कर रही थीं तब फोटोग्राफर ने इन्हे फिल्म या टीवी में काम करने का सजेशन दिया। शुभांगी ने अपना पहला ऑडिशन दिया।

बाई चान्स वो ऑडिशन बालाजी टेलीफिल्म्स की ‘‘बिग बाॅस’’ एक्ता कपूर के पास पहुंच गया और उन्होंने शुभांगी को उनके पहले शो ‘‘कसौटी जि़्ांदगी की’’ में कास्ट कर लिया। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा।

आज शुभांगी ‘‘भाभी जी घर पर हैं’’ सीरियल के लिए एक दिन का 40 हजार रुपए चार्ज करती हैं।

तिवारी जी. ‘‘इक बेचैनी, इक बेताबी छाई है, नई पड़ोसन जब से रहने आई है।’’ इस शो के दूसरे किरदार यानी मनमोहन तिवारी के दिमाग में हर समय यही गाना केमिकल लोचा करता रहता है। हां, वो और बात है कि अब ये पड़ोसन नई नहीं रहीं। भाभी जी सीरियल शुरू हुए कई साल हो गए। इस शो में मनमोहन तिवारी का किरदार रोहिताश गौड़ निभा रहे हैं। इनका जन्म चंडीगढ़ के एक छोटे से कस्बे कालका में हुआ।

कहते हैं पूत के पांव पालने में ही दिख जाते हैं। जब इनका जन्म हुआ तो एकाएक इन्होंने हाथ पांव चलाने शुरू कर दिए। बस तभी से इनके पिता को लग गया था कि ये जरूर एक्टर बनेगा। आपने वो मुहावरा तो सुना ही होगा ‘‘निल बटा सन्नाटा’’। ये मुहावरा तिवारी भईया पर बिलकुल फिट बैठता है। इनका मन पढ़ाई में न लगकर हाउस वाइज़् एक्टिविटीज़ में ज़्यादा लगता था।

जब ये 11वीं में आए तो इनके पिता ने कहा कि एक्टिंग का करियर बेहद मुश्किल है। इसमें कोई तुम्हें पूछने वाला नहीं है। पिता के जिद करने पर उन्होंने आर्ट्स न लेकर साइंस सब्जेक्ट ले लिया। रोहिताष गौड़ यानी मनमोहन तिवारी 11वीं कक्षा में फेल हो गए। तब उनके एक फिजिक्स के टीचर को उनके अंदर का कलाकार नजर आया। उन्होंने रोहिताष को आर्ट स्ट्रीम लेने की सलाह दी। उनके पिता को समझाया और वो मान गए।

रोहिताष के पिता ने कहा कि तुम्हें एक्टिंग में जाना है तो उसके बारे में पहले काफी कुछ सीखना होगा। फिर उन्होंने रोहिताष का दाखिला नेश्नल स्कूल ऑफ़ ड्रामा में करवाया दिया। उन्होंने यहां पर तीन वर्ष एक्टिंग की ट्रेनिंग ली और फिर बम्बई का रुख किया। किस्मत ने इन्हें एक बार फिर से घर का रुख करने को मजबूर कर दिया। इसके बाद ये घर के पास ही एनएसडी की ब्रांच में जाकर एक्टिंग की बारीकियां सीखने लगे। एक बार इन्होंने बाॅम्बे को याद किया और यहां आकर टीवी सीरियल में काम करने लगे। धीरे-धीरे इन्हें पहचान और कामयाबी दोनों मिलती चली गई। एंड टीवी के सीरियल ‘‘भाभी जी घर पर हैं’’ ने मनमोहन तिवारी को एक विशेष पहचान दिलाने में मदद की। आज वो एक दिन के शूट का 60 हजार रुपए चार्ज कर रहे हैं। तिवारी जी सामने वाली गोरी मेम पर डोरे डालते नजर आते हैं।

अनीता भाभी: दोस्तों, भाभी जी घर पर हैं की लीड रोल में नजर आने वाली अनीता भाभी का कैरेक्टर प्ले करने वाली भाभी जी कोई और नहीं बल्कि सौम्या टंडन थी। वही सौम्या टंडन जो अपनी अदाओं से तिवारी जी और दरोगा हप्पू सिंह को दीवाना बना देती थीं। हप्पू सिंह और तिवारी जी दिल ही दिल में प्यार करते हैं लेकिन कभी बता नहीं पाते।

हालांकि अब सौम्या टंडन ने ये सीरियल किसी कारण वश छोड़ दिया है। अब अनीता भाभी के किरदार को निभा रही हैं बिग बाॅस का हिस्सा रह चुकीं नेहा पेंडसे। हां तो हम बात कर रहे थे अनीता भभी यानी सौम्या टंडन की। अपने करियर में सौम्या ने कई सारे रिएलिटी शो को होस्ट किया है। वो एक अच्छी माॅडल, एंकर और कवयित्री भी हैं। उन्हें बेस्ट एंकर का अवाॅर्ड भी दिया जा चुका है। इस सीरियल के लिए सौम्या एक दिन का 60 हजार रुपए चार्ज करती थीं।